Getting Started with Google Analytics in hindi by unitdiploma

Google Analytics       ,

Getting Started with Google Analytics, Understanding Dashboard – Audience | Advertising | Traffic Source | Content |   Conversions, Taking decisions based on Analytics Reporting, Defining Business Goals and Objectives, Tracking Social Media Traffic, Tracking SEO Traffic, Integrating your Google AdWords campaigns into Google Analytics, Measuring Tools and Methods, Measuring your Site’s ROI, Introduction to Goal Conversion – Tracking the Conversions, Configuring UTMs (Custom URLs), Google Tag Manager – a brief overview. 

Google AdWords क्या है:

Google AdWords वह एक विज्ञापन देने की  सर्विस है, जिसमे कोई भी व्यक्ति अपने बिज़नस का विज्ञापन दे सकता है जिसकी सहायता से आसानी से और तेजी से अपने बिजनेश के लिए विज्ञापन बना तथा चला सकते हैं। इसके द्वारा आपके विज्ञापन गूगल पर चलाए जाते है और गूगल के विज्ञापन आपकी साइट पर दिखाए  जाते हैं। इसमे बजट से कोई लेना देना नही होता है

Google adwords ads step:-

  1. सर्वप्रथम https://ads.google.com/ वेबसाइट को open करेगे और साइन इन करे  button पर क्लिक करेगे 

Email id और password लिख कर आगे के option क्लिक करे 

Google ads नया खाता क्लिक करे 

नया कैंपेन create करेगे और किस टोपिक ads दिखाना है उसको select करके अगला option क्लिक करेगे 

सही खरीदारों तक पहुंचने वाला विज्ञापन बनाने के लिए इस जानकारी का उपयोग किया जाएगा

व्यवसाय का नाम

8 / 120

व्यवसाय की वेबसाइट

Ads की लोकेशन कहा कहा दिखाना है उसकी जानकारी लिख कर अगला option पर क्लिक करेगे 

उसके बाद keyword को select करके add कर nest button पर क्लिक करते है 

उसके बाद title और description को add करना 

Ads को कितने rupees मे public करना है उसे सिलैक्ट करे

Ads को सफलता पूर्वा create किया गया

परमिशन मिलने के बाद ads show होने लगेगे 

Setting up Google AdWords Campaigns

  1. Sign in to your Google Ads account.
  2. From the page menu on the left, click Campaigns.
  3. Click the plus button https://lh3.googleusercontent.com/zjCFMiHMS1mJU1kQMacxD3z0-4nP4DFKA2CcQI-L95QC78olo3QXh2qoIBOdAPi3Q8_t=w24-h24, then select New campaign. 
  4. Select one or more goals for your campaign, or if none of the goals fit what you’re looking for, select Create a campaign without a goal’s guidance.
    1. If this step doesn’t reflect what you’re seeing in your account, select a campaign type first then select a goal. Learn more about goals in the new Google Ads experience.
  5. Select a campaign type. 
  6. Click Continue.
  7. Select your campaign settings. Learn about each setting.
  8. Click Save and continue.

Adwords के द्वारा campaign चला कर आप users को अपनी business ad दिखा सकते है.

 Adwords Ads में कौन कौन से Campaign types है.

SEARCH ADS

यह Ads google Search engine में दिखाई देते है. यहाँ आपको cost per click गूगल को pay करना पड़ता है.

आपको keyword चुनना पड़ता है और जब वो keyword google में search करेगा तब Ads की मदत से आप visitors अपने Website पर ला सकते है.

आप अपना  business phone number दे सकते है ,आपको पैसे तभी चार्ज होंगे जब विजिटर आपको call करता है या आपके  website पर  visit करता है.

Search Ads

उपर दी गयी image में ‘Ad’ लिख कर है वो adwords द्वारा दिखाई जाने वाली ads है और organic results ads के बाद show होते है.

निचे दी गई image में आपको Call का परियाय दिख रहा होगा.

यह परियाय अगर advertiser ने phone no. दिया हो तो अपने मोबाइल से सर्च करने पर  Ad में show होता है.

With Call Search Ads

Google पर कोनसी Ad first position पर दिखेगी कोनसी उसके नीचे इसके लिए ranking system है. इसमें keywords, bid,landing page quality, etc देखा जाता है.

इन Campians में  Standard Campaign के अलावा Special Campaign का इस्तेमाल आप कर सकते है.

जैसे की Dynamic ads, Call to business ads, Mobile app promotion ads.

आइए जानते है Campaign के Special Campaign features को.

  1. Dynamic ads-  यह adwords का  बोहत बेहतरीन फीचर है. मान लिजिए आपकी Company, ‘Hotel online book’ करने की service देती है. अब किसी ने ‘Book hotel in goa’  google में  Search किया है, तो गूगल automatically  headline generate करेगा (तैयार करेगा) उसमे ‘Book hotel in goa’ इस keyword को दिखाया जायेगा और ad पर क्लिक करने पर विजिटर को goa के होटेल्स आपकी site के जिस page पर है, वो page दिखाया जायेगा. पर इसके लिए आपके site पर goa होटेल्स का page होना जरुरी है तभी गूगल यह result दिखाएगा.
  2. Call Only Ads- इस ads campaign में visitors ad क्लिक करते ही विजिटर landing page पर जाने की बजाए business को call लगता है. यह campaign किसी ambulance service ने रन किया है तो call लगेगा क्यों के ये site पर जा कर book करने से अच्छा है.
  3. Mobile App Promotion- इस में आप अपने Mobile App को promote कर के downloads बाढा सकते है, Search, Display या YouTube network पर.

उपर दिए special campaign में Call Only Ads सिर्फ Search Ads में उपलब्ध है.

बाकि special campaign, Search, Display तथा Video Ads network पर चलाये जा सकते है.

DISPLAY ADS

Display Ads Millions websites और काफी सारे mobile apps में इस्तेमाल हो रहे है.इस से आप अपने  business को अच्छी तरह promote कर सकते है और नए customer पा सकते है.

आपने आम तौर पर किसी website पर ads banner, text ads देखेंगे होंगे content के बिचमें या sidebar,etc में उन्हें Display Ads कहा जाता है.

Display Ads

जो लोग अपने website पर Adsense का इस्तेमाल करते है. उनके websites पर advertisers के ads adwords द्वारा दिखाए जाते है.

Dislpay Ads मोबाइल App में भी दिखाए जा सकते है.

आप कोई specific( वशिष्ट) mobile app पर भी अपनी business ad दे सकते है.

इसके अलावा display ads Gmail पर भी दिखाए जा सकते  है.

यह ads में आप keywords चुनते हो उससे related websites पर ads दिखाया जाता है. जैसे की कोई कंपनी fairness cream का advertise करना चाहती है.

तो उस cream का ad किसी beauty tips वाले ब्लॉग पर दिखेगा.

या आप पुराने visitors को ad दिखाना चाहते है तो वो भी कर सकते है.

या user के search history की मदत से भी display ads दिखाए जा सकते है. ये निर्भर करता है आप पर.

VIDEO ADS

Video ads की खास बात है की आपको पैसे तभी pay करने होंगे जब users आपका की पूरी ad देखेंगे.

मतलब आपके bussiness में जो interested(रूचि) नहीं है उसके लिए आपको पैसे pay नहीं करने होंगे.

YouTube पर video शुरू होने से पहले आपने advertise देखि होगी.

उसे adwords द्वारा दिखाए जनि वाली video ad कहते है.

Adwords video ads

video ads YouTube के साथ साथ गूगल partner sites पर भी दिखाए जा सकते है.  और display network जैसे की Apps में वगेरा.

Video ads के भी types है जैसे की Stream Ads, discovery ads, bumper ads

  1. Stream Ads- इस ad में विडिओ 5 sec दिखाने के बाद Skip का परियाय रहता है. Video 30 sec का पूरा देखने पर या advertiser को pay करना होता है वरना नहीं. 30 sec से पहले video में दी गई links पर क्लिक करने पर भी पैसे देने होंगे.
  2. Discovery Ads- इस ad फॉर्मेट में सिर्फ thumbnail दिखाया जाता है. कोई thumbnail पर click करता है तब पैसे charged होते है. यह ads Youtube search page,होम पेज,youtube पर related videos के साथ दिखाया जाता है.
  3. Bumper Ads- इस ad फॉर्मेट में विडियो skip करने का परियाय नहीं रहता. यह एक शोर्ट video होता है जिसे brand awareness के लिए इस्तेमाल कर सकते है. यहाँ  cost per impressions (CPM) होता है, पैसे आपको तभी pay करने है जब 1000 impressions आपके ad को मिलेंगे यानि जब हज़ार लोग देखेंगे.

SHOPPING ADS

Shopping ads retailers के लिए बेहद अच्छा परियाय है.

यह आपके product site पर ट्रैफिक लेन का बढ़िया तरीका है. और product buy करने के भी ज्यादा सम्भावना होती है.

क्यों के यहाँ text के साथ साथ product की pic,price, store का नाम,etc. दिखाया जाता है. निचे की पिक देखे shopping ads इस प्रकार होती है.

Shopping Ads example

यह ads आपके product के लिए चलानी है, तो पहले Google Merchant Center में आपको account बनाना पडेगा फिर adwords के साथ account लिंक करना पड़ेगा.

UNIVERSAL APP CAMPAIGN

यहाँ Mobile App सभी  जगह promote किया जाता है.

जैसे के Search result, playstore, display network, youtube. App के लिए ज्यादा Installs बढाने का universal app campaign बढ़िया तारिका है.

Universal App campaign by adwords

यह google adwords ne campaign type दिए है. जिस में आप app install होने पर पैसे pay करोगे.

या फिर app install होने पर कोई app में action होने पर.

  1. Google Analytics :- Google Analytics एक freemium web analytics है जिसका service Google के द्वारा provide किया जाता है| Freemium का मतलब की Free और premium दोनों service provide करता है| Analytics का काम Website के data को ट्रैक करना होता है जैसे traffic कितना आ रहा है, Traffic किस location से आ रहा है, traffic किस device से आ रहा है इत्यादि|      

इसके द्वारा हम अपने blog या website पर live visitors की संख्या भी देख सकते हैं और visitors कौन से page को देख रहे हैं और visitors किस location से visit कर रहे हैं इत्यादि हम देख सकते हैं| इस टूल के द्वारा live visitors देखने के लिए सबसे पहले इसका code आपको अपने blog में add करना होता है उसके बाद ही इसमें आपको आपके blog का रिपोर्ट show होगा| 

Google Analytics account कैसे create करें – Blog URL को Analytics में कैसे add करें?

यदि आप भी अपने blog के visitors को live देखना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको Analytics पर account create करना होगा उसके बाद आपको एक code दिया जायेगा जिसे अपने blog के theme में add करना होगा| जब आप code को theme में add कर देंगे तो आपको Google analytics पर live visitors दिखने लगेंगे| इसमें account बनाने के लिए आपके पास Gmail account होना चाहिए क्योंकि यह Google का service है और Google का service होने के कारण यह Gmail account से login होता है|

Step 1: Analytics account create करने के लिए सबसे पहले आपको Analytics के official website पर जाना होगा| (Click here for go to Official Website)

Step 2: अब यदि आपका Gmail account login नहीं होगा तो सबसे पहले Gmail account से login करने का option आएगा जिसमें अपना Gmail और उसके बाद Gmail का password enter करके login करें|

Step 3: अब login होने के बाद निचे दिए गए image की तरह option show होंगे जिसमें Sign Up पर click करें|

Sign up for Analytics

Sign up for Analytics

Step 4: अब आपके सामने एक sign up form open होगा जिसमें आपको आपको कुछ information fill up करने होंगे| Information fill-up करने से पहले आपको सबसे ऊपर में दो options show होंगे जैसे Website और Mobile app. यदि आप अपने blog के लिए Google analytics account create कर रहे हैं तो आपको Website वाला option select करना होगा| चलिए देखते हैं क्या क्या information चाहिए|

Creating New Analytics account

Creating New Analytics account

  1. Account Name: – इसमें आपको अपना Company का नाम या आपको अपना नाम enter करना होगा|
  2. Website Name: – इसमें आपको अपना website का नाम enter करना होगा जैसे मेरा blog का नाम Gupta Tree Point है तो मैंने Gupta Tree Point लिखा है|
  3. Website URL: Website URL enter करने से पहले आपको http:// या https:// select करना होगा यदि आपके blog में https add है तो https select करें और उसके बाद box में website का URL enter करें| एक बात कर ध्यान रखें की website URL में http या https add नहीं होना चाहिए मतलब की आपको website URL box में इस प्रकार URL enter करना होगा| www.computersike.online
  4. Industry Category: – आपका blog या website जिस category में बना है उस category को select करें यदि आपके blog का category इस list में शामिल नहीं है तो आप other category select कर सकते हैं|
  5. Reporting Time Zone: – आप अपना country का नाम select करें| आप जैसे ही country का नाम select करेंगे तो उसके सामने आपके country का time zone show होने लगेगा और यदि आपके country name select करने के बाद भी आपका time zone आपके country के हिसाब से नहीं show हो रहा है तो फिर time zone अपने अनुसार select करें|
  6. Data Sharing Setting: – इस category के अन्दर जितने भी checkbox हैं सबको tick ही रहने दें और यदि कोई tick नहीं है तो उसे tick करें|

Step 5: अब सारे details को enter करने के बाद सबसे निचे Get Tracking ID पर click करें|

Step 6: अब एक popup box show होगा जिसमे आपको Analytics का agreement accept करना होगा मतलब की उसका नियम का पालन करना होगा| इसमें आपको सबसे ऊपर में अपना country name select करना होगा उसके बाद आपको निचे में दो checkbox show होंगे जिसे tick करना होगा और सबसे अंत में I Agree के button पर click करना होगा|

Accept Agreement

Step 7: अब आपको एक tracking code show होगा जिसे copy करना होगा और फिर उसको अपने blog theme में add करना होगा|

Accept Agreement

Tracking ID

Tracking ID

WordPress blog में Analytics code को कैसे add करें?

अगर आपका blog WordPress platform पर चल रहा है तो आपको अपने blog के header.php में <head> tag के निचे code को add करना होगा तो चलिए step by step देखते हैं|

Step 1: सबसे पहले आप अपने username और password के द्वारा WordPress dashboard में login हो जाएँ|

Step 2: Login होने के बाद dashboard के left side में Appearance tab पर click करें और उसके बाद Editor tab पर click करें|

Appearance and Editor

Appearance and Editor

Step 3: अब उसके बाद right side में header.php के option पर click करें| अब एक नया page open होगा जिसमें <head> tag के just निचे analytics code को paste करें और फिर सबसे निचे Update File पर click करें|

Header.php File

Header.php File

अब आपका WordPress blog के theme में analytics code add हो चूका है| अब आप analytics open करके live visitors को देख सकते हैं|

Blogger blog में Analytics code कैसे add करें?

Step 1: सबसे पहले आप अपने Blogger dashboard में username और password के द्वारा login करें| Login करने के लिए आपको Gmail और password की आवश्यकता पड़ेगी|

Step 2: अब उसके बाद dashboard के left side में Theme और उसके बाद Edit HTML पर click करें|

Theme and Edit HTML

Theme and Edit HTML

Step 3: अब एक code box open होगा जिसमें <head> tag के just निचे analytics code को add करें और फिर सबसे ऊपर में Save Theme पर click करें|

Paste code below Head tag

Paste code below Head tag

अब आपके blogger blog के theme में analytics code add हो चूका है अब आप Google analytics को open

करके आप अपने blog पर live visitors को देख सकते हैं|

Google Analytics Home:

Home पर पूरे analytics process का पूरा एक summary दिखता है जिसमे Real time visitor, Conversion, revenue, User retention, session और बहुत कुछ जो भी analytics manager द्वारा set किया जाता है.

google analytics home

Customizations:

Customizations के मुख्य 4 हिस्से होते है.

Dashboards – यहाँ से User अपने हिसाब से dashboard बना सकता है जिसमे user, रेकुइरेमेंट के हिसाब से कोई भी Chart, table, matrices add या remove कर सकता है.

GA custom dashboard

Custom reports – User need के हिसाब से किसी भी matrices, dimensions add करके custom report बना सकता है.

custom report

Save reports – यहाँ पर कोई भी custom report या standard report बनाया जा सकता है इसको Admin section से manage कर सकते है.

Custom alerts – Traffic, converion, medium या किसी भी प्रकार के metric or dimension के लिए alert बना सकते है और इसमें less than, greater than, % Increase/decrease conditions लगा सकते है इससे जब भी set किये use metric या dimension से performance ऊपर या नीच होगा तो इसके बारे में जानकारी मिल जायेगा.

custom alerts

Real-Time:

इसके मुख्य 6 sub-part होते है.

Overview – यहाँ पर real-time website visitor, Pageview (Per minute, Per second), Top active pages, Top referrals, top keywords के बारे में जानकारी मिलता है.

real time traffic analysis

Locations – यहाँ से पता चलता है की website पर real-time traffic किस देश से आ रहे है.

traffic location

Traffic sources – यहाँ से real-time traffic के sources के बारे में जानकारी मिलता है यानि किस माध्यम का use करके traffic website तक पहुचे है.

traffic source

Content- यहाँ से जानकारी मिलता है की कौन page पर visitor active है.

Events – यहाँ से जानकारी मिलता है की जो भी Traffic website पर है वह कौन से event action को perform किये है पिछले 30 minute के अन्दर.

Conversion – यहाँ से जानकारी मिलता है की जो भी goals set किया गया है उसमे से पिछले 30 minute कौन कम्पलीट हुआ हैं.

conversions

.

Getting Started with Google Analytics, Understanding Dashboard – Audience | Advertising | Traffic Source | Content |   Conversions, Taking decisions based on Analytics Reporting, Defining Business Goals and Objectives, Tracking Social Media Traffic, Tracking SEO Traffic

 Integrating your Google AdWords campaigns into Google Analytics:- Sign in to Google Analytics.

Note: You can also open Analytics from within your Google Ads account. Click the Tools & Settings icon , select Google Analytics, and then follow the rest of these instructions.

  1. Click Admin and navigate to the property you want to link.
  2. In the Property column, click Google Ads Linking.
  3. Click + New link group.
  4. Select the Google Ads accounts you want to link, then click Continue.

    If you have an Google Ads manager account, select that account to link it (and all of its child accounts).

    If you want to link only some managed accounts, expand the manager account, then select each of the managed Google Ads accounts that you want to link. Or, click All Linkable to select all of managed Google Ads accounts, and then deselect individual accounts.
  5. Enter a link group title.
  6. Turn linking ON for each view in the property in which you want Google Ads data.
  7. Optionally, select Enable Google Display Network Impression Reporting to also include that data in each view.
  8. If you’ve already enabled auto-tagging in your Google Ads accounts, or if you want to let the linking process automatically enable auto-tagging in your Google Ads accounts, skip to the next step.

    However, if you want to manually tag your Google Ads links, click Advanced settings > Leave my auto-tagging settings as they are.
  9. Click Link accounts.

Congratulations! Your accounts are now linked. If you opted to use auto-tagging (recommended), Analytics will start automatically associating your Google Ads data with customer clicks.

When you link an Google Ads account and an Analytics property, anyone with access to the view(s) you selected during linking will be able to see your imported Google Ads data. Likewise, if you choose to import Analytics data (goals/Ecommerce transactionsmetrics, or Remarketing lists) into your Google Ads account, anyone with access to that Google Ads account will be able to see your imported Analytics data.

Edit a link group

Once you’ve created a link group, you can add or remove Google Ads accounts and Analytics views from that link group. You can also rename the link group.

If you want to remove all of your Google Ads accounts from your link group, follow the instructions for unlinking (in the next section).

To edit a link group:

  1. Sign in to Google Analytics..
    Note: You can also open Analytics from within your Google Ads account. Click the Tools & Settings icon , select Google Analytics, and then follow the rest of these instructions.
  2. Click Admin and navigate to the property whose Google Ads linking you want to edit.
  3. In the Property column, click Google Ads Linking.
  4. In the table, click the link group that you want to edit.
  5. To add or remove Google Ads accounts from your link group, click Edit in the Select linked Google Ads accounts section, and check or uncheck the boxes next to those accounts.
  6. To add or remove Analytics views, click Edit in the Link configuration section. Turn linking on or off as necessary.
  7. Click Save.

Unlink Google Ads and Analytics

If you want to unlink all of the Google Ads accounts in a link group from your Analytics property, you need to delete the entire link group.

If you have multiple Google Ads accounts in a link group and want to unlink only some of your accounts from your Analytics property, follow the Edit a link group instructions in the previous section.

To delete an entire link group:

  1. Sign in to Google Analytics..
    Note: You can also open Analytics from within your Google Ads account. Click the Tools & Settings icon , select Google Analytics, and then follow the rest of these instructions.
  2. Click Admin and navigate to the property you want to unlink.
  3. In the Property column, click Google Ads Linking.
  4. In the table, click the link group that you want to delete.
  5. Click Delete link group.
  6. In the confirmation pop-up, click Delete.

Keep in mind, if you delete a link group, all data will stop flowing between your Google Ads and Analytics accounts:

  • Google Ads data (such as clicks, impressions, CPC, etc.) will no longer be visible in Analytics reports. Session data up until the time you unlink the account will still be available. Any new sessions that result from clicks in these linked Google Ads accounts after you have unlinked will appear in Analytics reports as (not set).
  • Your Analytics Remarketing Lists will stop accumulating new users.
  • Google Ads will stop importing all Analytics Goals, Ecommerce transactions, and metrics you configured.

Note: Once Analytics data (for example, Goals) has been imported to Google Ads, it is subject to the Google Ads terms of service.

Leave a Reply

Your email address will not be published.