what is joysticks जॉयस्टिक क्या है joystick in hindi

joysticks जॉयस्टिक क्या है

 

जॉयस्टिक की परिभाषा (joystick definition in hindi)

परिभाषा – यह छोटी मुड़ी हुई स्टिक होती है जो की कर्सर को इधर उधर चलाने में काम में आता है। कुछ जॉयस्टिक कीबोर्ड में लगे हुए होते हैं और बाकी के बटन अलग से काम करते हैं। इस स्टिक को हम ज़्यादातर गेम खेलने के काम में लेते हैं।

पोटेनशीओमिटर जॉयस्टिक में नीचे की तरफ लगा हुआ होता है जिससे की इसका मूवमेंट होता है। पोटेनशीओमिटर की मदद से ही उसकी स्टिक वापस अपनी जगह पर आ जाती है।

इसमे काफी तरह के बटन भी होते हैं जिससे की हम बाकी के काम भी आसानी से कर सकते हैं। इसमे काफी तरह के सिग्नल भी होते हैं जिससे की यह काफी अच्छे से काम करते हैं।

जॉयस्टिक के फायदे (advantages of joystick in hindi)

  • यह कम्प्युटर को चलाने और विडियो गेम खेलने में काम आता है।
  • यह शुरू के लोगों को आसानी से इस्तेमाल करने में उपयोगी होता है।
  • इसकी काम करने की क्षमता काफी अच्छी होती है।
  • यह आसानी से चलाने के काम में आता है।
  • यह 3डी तरीके से चलाने में भी काम आते हैं।
  • यह रेसिंग और मिशन गेमों में काफी अच्छे से काम करते हैं।

जॉयस्टिक के नुकसान (disadvantages of joystick in hindi)

  • हमें ऑन स्क्रीन पोइंटर को माऊस की जैसे चलाने में काफी मुश्किल का सामना करना पड़ता है।
  • कई बार इसको चलाने का तरीका स्क्रीन में दिख रहे कर्सर से काफी अलग होता है जिससे की इसको चलाने में काफी परेशानी आती है।
  • अगर हम इसको चलाने में ज्यादा ज़ोर लगाएंगे तो यह स्टिक टूट भी सकती है इसलिए हमे इसका सावधानी से इस्तेमाल करना चाहिए।
  • जॉयस्टिक के ज्यादा इस्तेमाल से हमारे हाथ में भी काफी दर्द हो सकता है।
  • इसमे बहुत तरह के हाथ के घुमाव होते है इस वजह से भी कई बार हमें इसको चलाने में परेशानी होती है।

जॉयस्टिक के उपयोग (uses of joystick in hindi)

काफी उद्योगों में जॉयस्टिक के उपयोग हैं जैसे की क्रेन, एसम्ब्ली लाइन, जंगल के उपकरण, खुदाई वाले ट्रक, एक्सलेटर आदि। जॉयस्टिक का इस्तेमाल काफी मात्रा में किया जा रहा है। इसने पुराने तरीके वाले लिवर को हटाके हर जगह नए हाइड्रोलिक सिस्टम लगा दिये हैं। हालांकि जॉयस्टिक के लिए हमे यूएवी (unmanned aerial vehicles) और आरओवी (remotely operated vehicles) की और साथ ही साथ ऑन बोर्ड कैमरा, सेन्सर की भी जरूरत पड़ती है।

उद्योगों वाली जॉयस्टिक समान्य विडियो गेम वाली जॉयस्टिक से काफी जटिल होती है और बड़े बड़े कामों मे इस्तेमाल की जाती है। इसके बनने से हाल इफैक्ट में भी काफी फायदा हुआ था। हाल इफैक्ट की तकनीकी से ही उद्योगों वाली जॉयस्टिक को बनाया जाता है। दूसरी तकनीकी जो जॉयस्टिक को उद्योगों के लिए बनाने की है वह है स्ट्रेन गेज।

काफी छोटे और बड़े उद्योग जॉयस्टिक को बनाने का काम करते हैं। जॉयस्टिक के हैंडल ओर ग्रिप्स बनाने में भी इसका काफी इस्तेमाल होता है और यह जॉयस्टिक की क्षमता बनाने में भी काफी उपयोगी होते हैं। यदि ग्रिप अच्छी होगी तभी यह इस्तेमाल करने में भी सही होंगे इसलिए इसका भी महतव्पुर्ण काम है।

इसकी रेट हर तरह की होती है क्योंकि विडियो गेम खेलने वाली जॉयस्टिक अलग रेट की होती है और उद्योगों में काम करने वाली जॉयस्टिक अलग रेट की होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.