Difference between IoT and M2M in hindi

Difference between IoT and M2M in Hindi

IoT और M2M के बीच के अंतर (difference) को हम नीचे दी गयी table के द्वारा आसानी से समझ सकते हैं:-

अंतर का आधार IoT M2M
फुल फॉर्म इसका पूरा नाम internet of things है. इसका पूरा नाम machine to machine है.
कम्युनिकेशन प्रोटोकॉल इसमें communication के लिए internet protocol का प्रयोग किया जाता है जैसे कि – HTTP, FTP और Telnet आदि. इसमें कम्युनिकेशन के लिए traditional (परंपरागत) protocols और communication techniques का प्रयोग किया जाता है.
Intelligence (बुद्धिमत्ता) IoT devices के पास ऐसे objects होते हैं जिनके द्वारा decision making की जाती है अर्थात् ये devices निर्णय लेने के लिए जिम्मेदार होती है. M2M डिवाइसों की intelligence (बुद्धिमत्ता) IoT devices की तुलना में कम होती है. इनमें सीमित (limited) मात्रा की ही इंटेलिजेंस होती है.
Connection Type (कनेक्शन का प्रकार) इसमें connection के लिए network का प्रयोग किया जाता है. यह cloud connection को support करता है. यह point to point connection को support करता है.
Scope इसका scope बहुत बड़ा होता है क्योंकि इसमें बहुत सारीं devices कनेक्ट हो सकती हैं. इसका scope छोटा होता है क्योंकि इसमें limited संख्या में ही devices connect हो सकती हैं.
Internet इसमें communication के लिए internet की जरूरत होती है. इसमें devices इन्टरनेट पर निर्भर नहीं रहती हैं. अर्थात् इसमें internet की आवश्यकता नहीं होती.
Data Sharing IoT में, collect किये हुए data को दूसरे applications के साथ share किया जाता है. Share करने से user experience बेहतर होता है. M2M में, डाटा को दूसरे applications के साथ share नहीं किया जाता है. इसमें केवल comunicating parties को ही डाटा share किया जाता है.
Business Type इसमें business का प्रकार Business to Business (B2B) और Business to Consumer (B2C) होता है. इसमें केवल Business to Business (B2B) होता है.
API support यह open API को support करता है. यह open API को support नहीं करता है.
उदाहरण Big Data, Cloud, और Smart wearables आदि. Sensors, data और information आदि.